Thursday, October 9, 2008

हैप्पी रावण सा...


थोडी देर पहले हुआ एक छोटा सा संवाद पेश है ।
me: हैप्पी रावण सा abhishek3939: रावण कोई इतनी अच्छी चीज नहीं है। ।बुराई का प्रतीक चारों तरफ़ रावणabhishek3939: रावण 2008 पर सद् विचार ....???me: रावण मुझे अच्छा लगने लगा है 100 रूपए पर फीट का रावणबच्चों को भी खुश कर देता है सीता को स्पर्श भी नहीं कियाआज कल रेप मर्डर सब कुछ नॉन रावण कर रहेabhishek3939: आज कल की सीताओं पर आपके सद् विचार
me: त्रेता युग की सीता ने भी लक्ष्मण रेखा तो लांघी थीलेकिन इससे रावण का अपराध कम तो नहीं माना गया यही फर्क है कल युग और त्रेता युग के नज़रिए का abhishek3939: बोलो रावण महाराज की ...जयme: आप क्यों सहमत हो रहे हैंabhishek3939: आपसे सहमत हो रहा हूँ दरअसल आज का आदमी उस रावण से कहीं ज्यादा खतरनाक सिद्ध हो रहा है..... me: शुक्रिया 2:23 जुगल किशोर शर्मा का यह फोटो जयपुर की गुर्जर की थडी का है जहाँ सैकडों की तादाद में रावण बिकने लिए आए हैं